G20 क्या है

G20 क्या है 2023 in hindi

जी20 यानी ग्रुप ऑफ ट्वेंटी, एक वैश्विक आर्थिक मंच है जिसमें दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं वाले 20 देश शामिल हैं। इन देशों में भारत, अमेरिका, चीन, जापान, यूरोपीय संघ, ब्राजील, रूस, कनाडा, इटली, फ्रांस, जर्मनी, ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण कोरिया, सऊदी अरब, यूनाइटेड किंगडम, मेक्सिको, तुर्की और इंडोनेशिया शामिल हैं।

जी20 की स्थापना 1999 में हुई थी, जब दुनिया भर में आर्थिक समृद्धि और स्थिरता को बढ़ावा देने के लिए एक बहुपक्षीय मंच की आवश्यकता महसूस की गई थी। जी20 की बैठकें साल में एक बार होती हैं, और इन बैठकों में सदस्य देश वैश्विक आर्थिक विकास, व्यापार, वित्त, निवेश, जलवायु परिवर्तन और अन्य मुद्दों पर चर्चा करते हैं।

2023 में, भारत जी20 की अध्यक्षता कर रहा है। भारत ने 1 दिसंबर 2022 को जी20 की अध्यक्षता संभाली थी, और 9 से 10 सितंबर 2023 को नई दिल्ली में जी20 शिखर सम्मेलन आयोजित किया जाएगा। इस शिखर सम्मेलन में 20 सदस्य देशों के राष्ट्राध्यक्ष और अन्य वरिष्ठ अधिकारी शामिल होंगे।

जी20 शिखर सम्मेलन 2023 के लिए भारत की थीम “वसुधैव कुटुंबकम” है, जिसका अर्थ है “एक धरती, एक परिवार”। इस थीम के तहत, भारत वैश्विक आर्थिक विकास, जलवायु परिवर्तन, खाद्य सुरक्षा और अन्य मुद्दों पर सहयोग बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित करेगा।

जी20 शिखर सम्मेलन 2023 भारत के लिए एक महत्वपूर्ण अवसर है। इस शिखर सम्मेलन के माध्यम से, भारत वैश्विक मंच पर अपनी स्थिति को मजबूत कर सकता है और अन्य देशों के साथ सहयोग को बढ़ावा दे सकता है

G20 2023 की थीम क्या है?


जी20 2023 की थीम “वसुधैव कुटुंबकम” है, जो एक संस्कृत वाक्यांश है जिसका अर्थ है “एक धरती, एक परिवार”। यह थीम वैश्विक समुदाय के लिए एकजुटता और सहयोग की आवश्यकता पर जोर देती है।

जी20 2023 की थीम के तहत, भारत वैश्विक आर्थिक विकास, जलवायु परिवर्तन, खाद्य सुरक्षा और अन्य मुद्दों पर सहयोग बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित करेगा।

जी20 शिखर सम्मेलन 2023 भारत के लिए एक महत्वपूर्ण अवसर है। इस शिखर सम्मेलन के माध्यम से, भारत वैश्विक मंच पर अपनी स्थिति को मजबूत कर सकता है और अन्य देशों के साथ सहयोग को बढ़ावा दे सकता है।

जी20 2023 की थीम के कुछ प्रमुख बिंदु निम्नलिखित हैं:

  • वैश्विक आर्थिक विकास को बढ़ावा देना
  • जलवायु परिवर्तन से लड़ना
  • खाद्य सुरक्षा को सुनिश्चित करना
  • स्वास्थ्य और शिक्षा तक समान पहुंच प्रदान करना
  • अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा को बढ़ावा देना

जी20 शिखर सम्मेलन 2023 9 से 10 सितंबर 2023 को नई दिल्ली, भारत में आयोजित किया जाएगा।

G20 का उद्देश्य क्या है?


जी20 का उद्देश्य वैश्विक आर्थिक समृद्धि और स्थिरता को बढ़ावा देना है। जी20 के सदस्य देश दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं वाले देश हैं, और इन देशों की नीतियां वैश्विक अर्थव्यवस्था को काफी प्रभावित करती हैं। जी20 की बैठकें एक मंच प्रदान करती हैं जहां इन देशों के नेता वैश्विक आर्थिक चुनौतियों पर चर्चा कर सकते हैं और सहयोग के लिए नीतिगत उपाय कर सकते हैं।

जी20 के कुछ प्रमुख उद्देश्यों में शामिल हैं:

  • वैश्विक आर्थिक विकास को बढ़ावा देना
  • व्यापार और निवेश को बढ़ावा देना
  • वित्तीय स्थिरता को बढ़ावा देना
  • जलवायु परिवर्तन से लड़ना
  • खाद्य सुरक्षा को सुनिश्चित करना
  • स्वास्थ्य और शिक्षा तक समान पहुंच प्रदान करना
  • अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा को बढ़ावा देना

जी20 की स्थापना 1999 में हुई थी, जब दुनिया भर में आर्थिक समृद्धि और स्थिरता को बढ़ावा देने के लिए एक बहुपक्षीय मंच की आवश्यकता महसूस की गई थी। तब से, जी20 दुनिया के सबसे महत्वपूर्ण आर्थिक मंचों में से एक बन गया है। जी20 की बैठकें साल में एक बार होती हैं, और इन बैठकों में सदस्य देश वैश्विक आर्थिक विकास, व्यापार, वित्त, निवेश, जलवायु परिवर्तन और अन्य मुद्दों पर चर्चा करते हैं।

2023 में, भारत जी20 की अध्यक्षता कर रहा है। भारत ने 1 दिसंबर 2022 को जी20 की अध्यक्षता संभाली थी, और 9 से 10 सितंबर 2023 को नई दिल्ली में जी20 शिखर सम्मेलन आयोजित किया जाएगा। इस शिखर सम्मेलन में 20 सदस्य देशों के राष्ट्राध्यक्ष और अन्य वरिष्ठ अधिकारी शामिल होंगे।

जी20 शिखर सम्मेलन 2023 भारत के लिए एक महत्वपूर्ण अवसर है। इस शिखर सम्मेलन के माध्यम से, भारत वैश्विक मंच पर अपनी स्थिति को मजबूत कर सकता है और अन्य देशों के साथ सहयोग को बढ़ावा दे सकता है।

जी20 2023 का विषय क्या है?

जी20 2023 की थीम “वसुधैव कुटुंबकम” है, जो एक संस्कृत वाक्यांश है जिसका अर्थ है “एक धरती, एक परिवार”। यह थीम वैश्विक समुदाय के लिए एकजुटता और सहयोग की आवश्यकता पर जोर देती है।

जी20 2023 की थीम के तहत, भारत वैश्विक आर्थिक विकास, जलवायु परिवर्तन, खाद्य सुरक्षा और अन्य मुद्दों पर सहयोग बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित करेगा।

जी20 शिखर सम्मेलन 2023 भारत के लिए एक महत्वपूर्ण अवसर है। इस शिखर सम्मेलन के माध्यम से, भारत वैश्विक मंच पर अपनी स्थिति को मजबूत कर सकता है और अन्य देशों के साथ सहयोग को बढ़ावा दे सकता है।

जी20 2023 की थीम के कुछ प्रमुख बिंदु निम्नलिखित हैं:

  • वैश्विक आर्थिक विकास को बढ़ावा देना
  • जलवायु परिवर्तन से लड़ना
  • खाद्य सुरक्षा को सुनिश्चित करना
  • स्वास्थ्य और शिक्षा तक समान पहुंच प्रदान करना
  • अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा को बढ़ावा देना

जी20 शिखर सम्मेलन 2023 9 से 10 सितंबर 2023 को नई दिल्ली, भारत में आयोजित किया जाएगा।

भारत में कितने G20 बैठकें हैं

भारत में 2023 में जी20 की कुल 12 बैठकें होंगी। इन बैठकों में शामिल हैं:

  • 1 दिसंबर 2022 से 30 नवंबर 2023 तक 47 मंत्रिस्तरीय और उच्च स्तरीय बैठकें
  • 23 से 25 फरवरी 2023 तक जी20 वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंक के गवर्नर की बैठक
  • 20 से 22 जुलाई 2023 तक जी20 वित्तीय मंत्री और केंद्रीय बैंक के गवर्नर की बैठक
  • 9 और 10 सितंबर 2023 को जी20 शिखर सम्मेलन

जी20 शिखर सम्मेलन 9 और 10 सितंबर 2023 को नई दिल्ली में आयोजित किया जाएगा। यह शिखर सम्मेलन जी20 की अध्यक्षता के तहत भारत की अंतिम बैठक होगी।

भारत में जी20 की बैठकों का आयोजन नई दिल्ली, चेन्नई, हैदराबाद, और मुंबई में किया जाएगा।

Leave a Comment